Tag Archives: mamta banerjee

जन अपेक्षाओं को जल्द पूरा करे सरकार : मोहन भागवत

आपसी फूट की राजनीति से बचने का आह्वान करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ.मोहन भागवत ने कहा है कि सभी को देश धर्म की रक्षा के लिए मिलकर साथ चलना होगा। चुनाव को महज एक स्पर्धा मानते हुए कहा कि परिणाम आने के बाद किसी तरह का भेद नहीं रहना चाहिए। जीतने वाले जीत के गुमान व हारने वाले हार की भड़ास निकालने में लगे रहे, तो देश का नुकसान ही होगा। सरसंघचालक ने कहा कि अधूरी अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए जनता ने जिस दल को दोबारा मौका दिया, उसकी सरकार को जल्द जन अपेक्षाओं को पूरा करना चाहिए।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/mohan-bhagwat-attacks-mamta-banerjee-over-violence-in-west-bengal-70757

Advertisements

अब गुस्सा हुईं ममता, बोली- I’m sorry modi ji शपथ ग्रहण में नहीं आऊंगी

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में आने से ममता बनर्जी ने मना किया
  • पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगाए जा रहे गलत आरोप से नाराज थी ममता
  • ममता ने कहा, बंगाल में कार्यकर्ताओं की हत्या की वजह राजनीतिक नहीं, बल्कि आपसी रंजिश

लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीत हासिल करने के बाद बीजेपी पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह की तैयार कर रही है। इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट करते हुए शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से मना कर दिया है। हालांकि ममता बनर्जी ने पहले शपथ ग्रहण में आने के लिए हामी भर दी थी, लेकिन अब उन्होंने अपनी बात से यू-टर्न लेते हुए एक चिट्ठी लिखकर शपथ ग्रहण के कार्यक्रम में जाने से मना कर दिया है। ममता ने अपनी चिट्ठी में लिखा, भाजपा ने इस कार्यक्रम में मृत बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार वालों को बुलाया है और इसे राजनीतिक हत्या करार दिया है। ममता ने कहा है कि ये राजनीतिक हत्या नहीं है, बल्कि आपसी रंजिशों के मसले हैं।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/mamata-banerjee-has-refused-to-join-narendra-modis-oath-ceremony-69160

मिशन बंगाल: ममता के गढ़ में PM मोदी, किराए की जमीन पर करेंगे जनसभा

मिशन बंगाल: ममता के गढ़ में PM मोदी, किराए की जमीन पर करेंगे जनसभा
Modi will visit West Bengal today for the Lok Sabha election 2019

NEWS HIGHLIGHTS

  •  ममता के गढ़ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
  •  पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में रैली को संबोधित करेंगे।
  •  राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाटा-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किए जाने की आधारशिला रखेंगे।

लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी बंगाल जीतने पर ज्यादा जोर दे रही है। जिसके चलते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक सप्ताह के भीतर आज (शुक्रवार) को बंगाल में तीसरी रैली को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी जलपाईगुड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाटा-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किए जाने की आधारशिला रखेंगे। पीएमओ से जारी एक बयान में कहा गया कि मोदी जलपाईगुड़ी में उच्च न्यायालय की नई सर्किट बेंच का भी उद्घाटन करेंगे।

पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की रैली स्थल के लिए मंजूरी को लेकर भी भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक मोदी जिले में रैली के लिए उसी मंच का इस्तेमाल किराए पर सकते है, जिस मंच का इस्तेमाल ममता बनर्जी ने किया था। पीएम मोदी इसी मंच से ममता के आरोपों का ‘माकूल’ जवाब देंगे और चुनावों से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भी भरेंगे। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा,पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश देने के अलावा हमें उम्मीद है कि मोदी जी तृणमूल कांग्रेस के असंवैधानिक धरने का भी समुचित जवाब देंगे। 

पीएम मोदी जलपाईगुड़ी में राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाता-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किये जाने की आधारशिला रखेंगे। पीएमओ से जारी एक बयान में कहा गया कि राष्ट्रीय राजमार्ग का यह 41.7 किलोमीटर लंबा खंड पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में आता है और इसे करीब 1938 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा। पीएम मोदी जलपाईगुड़ी में हाईकोर्ट की नई सर्किट बेंच का भी उद्घाटन करेंगे। 

तृणमूल सरकार केंद्र और तृणमूल सरकार के बीच टकराव गुरुवार को उस समय और बढ़ गया जब राज्य सरकार ने आरोप लगाया कि शुक्रवार को प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए जाने वाले कलकत्ता उच्च न्यायालय की बहुप्रतीक्षित जलपाईगुड़ी सर्किट बेंच के उद्घाटन के बारे में न सिर्फ अंधेरे में रखा, बल्कि आमंत्रित भी नहीं किया।


Source: Bhaskarhindi.com

Urjit Patel

RBI गवर्नर के इस्तीफे पर घिरी मोदी सरकार, विपक्षी नेताओं ने दागे सवाल

RBI गवर्नर के इस्तीफे पर घिरी मोदी सरकार, विपक्षी नेताओं ने दागे सवाल
Urjit Patel RBI governor resignation

NEWS HIGHLIGHTS

  •  RBI गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।
  •  कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा है कि उर्जित पटेल को जबरन इस्तीफा दिलवाया गया है।
  •  ममता बनर्जी ने कहा है कि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद विपक्षी दलों के नेताओं ने केंद्र सरकार पर आक्रामक रवैया अपना लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि CBI, RBI, इलेक्शन कमीशन और संविधान पर बीजेपी सरकार के हमले को रोकना होगा। वहीं, कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उर्जित पटेल को जबरन इस्तीफा दिलवाया गया है। उधर, पश्चिम बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है। 

देश के संवैधानिक संस्थान खतरे में- राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, ‘सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं के बीच चल रही बैठक के बीच में हमें बताया गया कि RBI चीफ ने इस्तीफा दे दिया। वह अब सरकार के साथ काम नहीं कर पा रहे थे। हम सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं ने मीटिंग में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया है कि हमें हमारे देश के सभी संवैधानिक संस्थानों को बीजेपी के आक्रमण से रोकना होगा। हमें CBI, RBI, इलेक्शन कमीशन और संविधान को बीजेपी के हमले से बचाना होगा। RBI गवर्नर ने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि वह संस्थान को बचाना चाहते थे। RBI से अपने निजी वजहों से अतिरिक्त रुपए लेना इस देश के खिलाफ है। मुझे खुशी और गर्व है कि लोग इसके विरोध में सामने आ रहे हैं।’

गवर्नर को पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया – अहमद पटेल

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा, ‘जिस तरह से भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर को अपना पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया है, यह भारत की मौद्रिक और बैंकिंग प्रणाली के लिए बहुत बुरा है। बीजेपी सरकार ने इस देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी जैसी स्थिति पैदा कर दी है। देश की प्रतिष्ठा और विश्वसनीयता अब दांव पर लग गई है।’

उर्जित पटेल को वापस बुलाना चाहिए- सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, ‘उर्जित पटेल का इस्तीफा इस देश की इकोनॉमी, RBI और सरकार के लिए बुरा है। उन्हें कम से कम जुलाई में अगली सरकार बनने तक रहना चाहिए था। प्रधानमंत्री को फौरन उन्हें फोन करना चाहिए और कारण पता लगाना चाहिए। इतना ही नहीं पीएम को उन्हें लोगों के हित के लिए पद छोड़ने से रोकना चाहिए।’

उर्जित पटेल का निर्णय भारत के लिए चिंता का विषय- रघुराम राजन
भारतीय रीजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भी इसे देश के हित के लिए काफी बुरा बताया है। राजन ने कहा, ‘पटेल के इस निर्णय से सभी भारतीयों को चिंतित होना चाहिए। डॉ पटेल ने यह निर्णय क्यों लिया इसके बारे में पता लगाना चाहिए। हमें उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए।’ वहीं RBI बोर्ड के मेंबर एस गुरुमुर्ती ने उर्जित पटेल के निर्णय को चौंकाने वाला बताया है। गुरुमुर्ती ने कहा, ‘मैं RBI गवर्नर के निर्णय से चकित हूं। हमारी पिछली मीटिंग काफी अच्छी रही थी। हम सभी ने यह बात की थी कि मीडिया ने विवाद को लेकर गलत खबर बनायी है। ऐसे में उनका यह निर्णय और भी चौंकाने वाला है।’ 

देश में लागु हो चुकी है फाइनेंशियल इमरजेंसी- ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC चीफ ममता बनर्जी ने RBI गवर्नर के इस्तीफे पर कहा, ‘हम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलेंगे। इस देश की वित्तीय स्थिति डावाडोल हो चुकी है, क्योंकि RBI चीफ ने खुद इस्तीफा दे दिया है। देश के लिए यह बहुत चिंता का विषय है, क्योंकि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है।’

पीएम मोदी, वित्त मंत्री जेटली ने की उर्जित की तारीफ

पीएम मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उर्जित पटेल के इस्तीफे के ऐलान के बाद उनके अब तक के काम की सराहना की है। पीएम ने कहा, डॉ उर्जित पटेल मैक्रो-इकोनॉमिक मुद्दों की गहरी समझ और उच्च क्षमता वाले अर्थशास्त्री हैं। उन्होंने RBI का संचालन बेहद सूझबूझ के साथ किया। वह अपने पीछे एक महान विरासत छोड़ गए हैं। हम उन्हें बहुत मिस करेंगे। वहीं जेटली ने कहा कि डॉ पटेल ने अपने निजी कारणों से इस्तीफा दिया है और मैं डॉ पटेल को आगे की भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।


Source: https://www.bhaskarhindi.com/news/rahul-gandhi-mamta-banerjee-opposition-on-urjit-patel-rbi-governor-resignation-54689