Tag Archives: एनडीए

PM की सांसदों को सलाह- मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बचें, अब देश माफ नहीं करेगा

हाईलाइट

  •  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदों को दी सलाह
  •  मीडिया में मंत्री पद के लिए नाम आए तो सच मत समझ लेना
  •  मंत्रीपद को लेकर पीएम ने कहा- जिसकी जिम्मेदारी है वही सरकार बनाने वाले हैं

एनडीए की बैठक में संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदों को सलाह दी है। पीएम मोदी ने नई सरकार की योजनाओं के बारे में बात करते हुए नए सांसदों से कहा, अगर मीडिया में मंत्री पद के लिए उनका नाम आए तो उसे सच मत समझ लेना। इसके साथ ही पीएम ने मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बचने की सलाह देते हुए कहा, अब देश माफ नहीं करेगा।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंhttps://www.bhaskarhindi.com/news/prime-minister-narendra-modi-alerted-newly-elected-nda-mps-ministerial-illusion-68865

LIVE लोकसभा चुनाव: प्रचंड बहुमत के साथ ऐतिहासिक जीत की ओर NDA

हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना जारी
  • एनडीए को 300 से ज्यादा सीटों पर बढ़त

लोकसभा चुनाव 2019 ऐतिहासिक मोड़ ले चुका है। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी एक बार फिर प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। सुबह 8 बजे जारी मतगणना में अब तक आए रुझानों में NDA ने 300 से ज्यादा सीटों पर बढ़त बना ली है। NDA का आंकड़ा 345 तक पहुंच गया है। वहीं, कांग्रेस समेत पूरे विपक्षी खेमे को बीजेपी ने जड़ से उखाड़ दिया है। देश की जनता इस एक बार फिर मोदी पर भरोसा जताया है।


LIVE UPDATES आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें –
https://www.bhaskarhindi.com/news/election-2019-live-lok-sabha-election-results-live-updates-nda-lead-on-many-seat-68654

राहुल का संदेश – एग्जिट पोल से निराश न हों कार्यकर्ता, मेहनत बेकार नहीं जाएगी

हाईलाइट

  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया संदेश
  • अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। सतर्क और चौकन्ना रहें।
  • राहुल ने कहा- आप सत्य के लिए लड़ रहे हैं। खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें

लोकसभा चुनाव के परिणाम से पहले सामने आए एग्जिट पोल्स में एनडीए को बढ़त और विपक्ष को निराशा हाथ लगने के अनुमान हैं। वहीं कांग्रेस पार्टी लगातार अपने कार्यकर्ताओं को निराश न होने और चौकन्ना रहने की सलाह दे रही है। प्रियंका गांधी के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को संदेश दिया है कि अगले 24 घंटे बेहर अहम हैं इसलिए वे निराश न हों और पूरी तरह से चौकन्ना रहें।

कार्यकर्ताओं को राहुल गांधी का संदेश

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कार्यकर्ताओं से कहा है कि, अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। सतर्क और चौकन्ना रहें। डरे नहीं। आप सत्य के लिए लड़ रहे हैं । फर्जी एग्जिट पोल के दुष्प्रचार से निराश न हो। खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें, आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/rahul-gandhi-message-to-congress-workers-to-not-believe-in-fake-exit-polls-68564

एग्जिट पोल के बाद बढ़ी हलचल, 21 मई को होगी NDA की बैठक

हाईलाइट

  • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार के बनने के संकेत 
  • नतीजों के मद्देनजर आगे की रणनीति के लिए हो सकती है बैठक

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के खत्म होते ही एग्जिट पोल भी सामने आ गए हैं। जिनमें से ज्यादातर ने एनडीए को पूर्ण बहुमत दिया है। एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार के बनने के संकेत मिलने के बाद पक्ष-विपक्ष में हलचल बढ़ गई है। अब 21 मई को एनडीए की बैठक होने वाली है। जिसमें चुनाव के नतीजों के मद्देनजर आगे की रणनीति पर चर्चा हो सकती है।

23 मई को आएंगे लोकसभा चुनाव के परिणाम

विपक्ष के बाद अब एनडीए ने भी अपने नेताओं के साथ मुलाकात की तैयारी शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक, एनडीए के सभी दल 21 मई को दिल्ली में एक बैठक करने जा रहे हैं। इस बैठक में 23 मई को आने वाले नतीजों को लेकर रणनीति तय की जाएगी। सरकार बनाने की दिशा में क्या कदम होने चाहिए इस पर निर्णय लिए जाएंगे। फिलहाल बैठक की अध्यक्षता कौन करेगा इस संबंध में जानकारी नहीं मिली है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/nda-leaders-likely-to-meet-on-may-21-ahead-of-counting-of-votes-on-may-23-68357

गुलाम नबी के बदले सुर, बोले – कांग्रेस को मिलना चाहिए सरकार चलाने का मौका

हाईलाइट

  • विपक्षी दलों की सर्वसम्मती से अगला प्रधानमंत्री बनाने की बात कहने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने अपने सुर बदल लिए हैं।
  • इससे पहले आजाद ने कहा था कि हम पहले स्पष्ट कर चुके हैं कि कांग्रेस के पक्ष में सहमति बनेगी तभी हम कोई नेतृत्व स्वीकार करेंगे, लेकिन हमारा लक्ष्य तब भी एनडीए को सत्ता में आने से रोकना होगा।
  • कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस चुनाव में पार्टी अपने दम पर 273 सीट हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनेगी।

विपक्षी दलों की सर्वसम्मति से अगला प्रधानमंत्री बनाने की बात कहने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने अपने सुर बदल लिए हैं। बयान बदलते हुए आजाद ने कहा कि ऐसा नहीं है कि कांग्रेस को पीएम पद में दिलचस्पी नहीं है या हम इसके लिए दावा नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि हम सबसे बड़ी पार्टी हैं और अगर पांच साल सरकार चलानी है तो हमे मौका मिलना चाहिए। गौरतलब है कि गुरुवार को कांग्रेस नेता आजाद ने इससे पहले कहा था कि हमारा केवल एक लक्ष्य है, NDA को सत्ता से हटाना।

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा कि ” यह सच नहीं है कि कांग्रेस को पीएम पद में रुचि नहीं है या पार्टी पद के लिए दावा नहीं जताएगी, हमारी पार्टी सबसे बड़ी और पुरानी है, अगर हमें पांच साल सरकार चलाना है तो सबसे बड़ी पार्टी को मौका मिलना ही चाहिए।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/ghulam-nabi-azad-congress-should-given-a-chance-for-government-68130

विपक्ष की मांग: सेलेक्ट कमेटी के पास भेजें 3 तलाक बिल, 2 बजे से राज्यसभा की कार्रवाई

विपक्ष की मांग: सेलेक्ट कमेटी के पास भेजें 3 तलाक बिल, 2 बजे से राज्यसभा की कार्रवाई
Triple divorce bill in upper house, BJP does not have majority

NEWS HIGHLIGHTS

  •  बिल के विरोध में 12 विपक्षी दल हो गए हैं एकजुट
  •  भाजपा के लिए राज्यसभा में बिल पास कराना चुनौती
  •  एनडीए के पास 97 तो यूपीए के पास 115 सांसद

राजनैतिक उठापटक के बीच मोदी सरकार आज (सोमवार) राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश करेगी। बिल के विरोध में 12 विपक्षी दल एकजुट हो गए हैं, जिन्होंने राज्यसभा के चेयरमैन को खत लिखकर इसे सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग की है। दोपहर 2 बजे केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद राज्यसभा में बिल पेश करेंगे। राज्यसभा में बहुमत न होने के कारण बिल पास कराना भाजपा के लिए चुनौतीपूर्ण साबित हो रहा है। सोमवार सुबह विपक्षी दलों ने सरकार को घेरने के लिए बैठक की तो वहीं बीजेपी चीफ अमित शाह, वित्त मंत्री जेटली और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बीच भी बैठक हुई। बता दें कि अमित शाह और अरुण जेटली राज्यसभा सदस्य हैं।

बिल के विरोध में कांग्रेस, टीएमसी, आम आदमी पार्टी, एनसीपी, सीपीआई, सीपीएम और टीडीपी सहित 12 पार्टियों ने सभापति वेंकैया नायडू को खत लिखा है। सभी ने बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने के लिए कहा है। इस 12 सदस्यीय दल में मोदी सरकार की समर्थक मानी जा रही तमिलनाडु की एआईएडीएमके शामिल हो गई है। नियमों के मुताबिक तीन तलाक बिल पर राज्यसभा में चर्चा से पहले सभापति प्रस्ताव की जानकारी देंगे।

राज्यसभा में सरकार के सामने ये मुश्किल…
उच्च सदन के तौर पर जाने वाली राज्सभा में कुल 244 सदस्य हैं, जिनमें से 4 नामित हैं। एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के 97 सांसद हैं, इसमें 73 भाजपा, 6 जेडीयू, 5 निर्दलीय, 3 शिवसेना, 3 अकाली दल, 3 नामित सदस्य, 1 बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट, 1 सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट, 1 नागा पीपल्स फ्रंस और 1 आरपीआई सांसद शामिल हैं, जबकि संख्याबल के मामले में विपक्ष सरकार पर भारी है। यूपीए (संयुक्त प्रगतिशील गंठबंधन) के पास इस समय 115 सदस्य हैं, जिसमें 50 कांग्रेस, 13 टीएमसी, 13 सपा, 6 टीडीपी, 5 आरजेडी, 5  सीपीएम, 4 डीएमके, 4 बीएसपी, 4 एनसीपी, 3 आप, 2 सीपीआई, 1 जेडीएस, 1 केरल कांग्रेस (मनी), 1 आईएनएलडी, 1 आईयूएमएल, 1 निर्दलीय और 1 नामित सांसद शामिल है।

विपक्ष की मांग: सेलेक्ट कमेटी के पास भेजें 3 तलाक बिल, 2 बजे से राज्यसभा की कार्रवाई
Triple divorce bill in upper house,

लोकसभा में पास हो चुका है बिल

इससे पहले तीन तलाक को गैर-कानूनी बनाने के लिए 27 दिसंबर (गुरुवार) को मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक 2018 गुरुवार को लोकसभा में पेश किया गया था, जो पास हो गया। बिल के पक्ष में 245 वोट पड़े थे, जबकि 11 वोट इसके खिलाफ डाले गए थे। कांग्रेस और AIADMK ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया था और सदन से वॉकआउट कर दिया था। कांग्रेस की मांग थी कि इस बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए।

विपक्ष की मांग: सेलेक्ट कमेटी के पास भेजें 3 तलाक बिल, 2 बजे से राज्यसभा की कार्रवाई
Triple divorce

तीन साल की सजा का प्रवाधान

दिसंबर 2017 में भी लोकसभा में ट्रिपल तलाक का बिल पास हो चुका था, लेकिन विपक्ष की आपत्तियों के बाद यह राज्यसभा में अटक गया था। विपक्ष चाहता था कि इस बिल में कुछ संशोधन हो। इसके बाद सरकार ने विपक्ष की बात मानते हुए कुछ संशोधन किए भी थे जिसमें जमानत के प्रावधान को भी शामिल किया गया था। बावजूद इसके राजयसभा में ये बिल पास नहीं हो सका था जिसके बाद सरकार को सितंबर में अध्यादेश लाना पड़ा था। अध्यादेश को बदलने के लिए 17 दिसंबर को लोकसभा में नया बिल लाया गया था। अध्यादेश में लाए गए संशोधनों को स्थायी कानून बनाने के लिए सरकार नए सिरे से इस बिल को लेकर आई है। प्रस्तावित कानून में ट्रिपल तलाक को दंडनीय अपराध माना गया है। इस कानून के बनने के बाद ट्रिपल तलाक देना अवैध और शून्य हो जाएगा। इतना ही नहीं तलाक देने वाले पति को तीन साल की जेल भी होगी।

विपक्ष की मांग: सेलेक्ट कमेटी के पास भेजें 3 तलाक बिल, 2 बजे से राज्यसभा की कार्रवाई
Triple divorce bill

नए बिल में जमानत का प्रावधान

नए बिल में सरकार ने जो बदलाव किए गए है उसमें FIR तभी दर्ज की जाएगी जब पत्नी या कोई नजदीकी रिश्देदार इसकी शिकायत करें। विपक्ष की आपत्ति के बाद बिल में ये भी संशोधन किया गया है कि पति और पत्नी के बीच उचित टर्म मैजिस्ट्रेट समझौता कर सकते हैं। इसके अलावा ट्रिपल तलाक गैर जमानती अपराध तो बना रहेगा, लेकिन मजिस्ट्रेट चाहे तो इसमें जमानत दे सकता है। हालांकि इससे पहले पत्नी की सुनवाई करनी होगी। 


Source: https://www.bhaskarhindi.com/news/triple-divorce-bill-in-upper-house-bjp-does-not-have-majority-56353