Category Archives: Religion News

Religion News

29 सितंबर से शुरू हो रही शारदीय नवरात्रि, मां दुर्गा के इन स्वरूपों की करें पूजा

हिन्दू धर्म में त्यौहारों का बड़ा महत्व है और इसकी शुरुआत गणेश चतुर्थी यानी कि गणेश उत्सव के साथ हो चुकी है और अब नवरात्रि का पर्व आने वाला है। जब पूरे नौ दिनों तक मांग दुर्गा की पूजा और आराधना की जाती है। शास्त्रों में मां दुर्गा के नौ रूपों का बखान किया गया है, जिनकी पूजा नवरात्रि में विशेष रूप से की जाती है। हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार शारदीय नवरात्रि 29 सितंबर से शुरू होकर 7 अक्टूबर तक चलेगी।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें –  https://www.bhaskarhindi.com/news/shardiya-navratri-starting-on-september-29-worship-these-forms-of-maa-durga-85525

Advertisements

आज से शनि बदलेंगे अपनी चाल, मार्गी होने पर कष्टों से मिलेगी राहत

शनि देव न्याय प्रिय और कर्मफल दाता हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शनि ग्रह कर्म और सेवा का कारक होता है इसलिए इसका सीधा संबंध आपकी नौकरी और व्यवसाय से भी होता है। फिलहाल शनि 18 सितंबर यानी कि आज से धनु राशि में ही वक्री से मार्गी होंगे। इनके मार्गी होने से सभी राशियों पर इसका प्रभाव देखने को मिलेगा। ज्योतिषों के अनुसार शनिदेव दोपहर 2 बजकर 18 मिनट पर मार्गी होकर सीधी चाल चलेंगे।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
https://www.bhaskarhindi.com/news/saturn-will-change-its-movement-from-today-relief-from-suffering-85369

विश्वकर्मा जयंती मंगलवार को, जानें महत्व, पूजा विधि और कथा

प्रत्येक वर्ष सूर्य के कन्या राशि में प्रवेश होने पर या कन्या सक्रांति पर विश्वकर्मा जयंती मनाई जाती है। हिंदू धर्म के अनुसार इसी दिन देवताओं के शिल्पकार विश्वकर्मा का जन्म हुआ था। इस वर्ष विश्वकर्मा जयंती 17 सितंबर 2019 मंगलवार को मनाई जाएगी। बता दें कि इस दिन कारखानों, उद्योगों, फैक्ट्रियों, हर प्रकार की मशीनों और औजारों की पूजा की जाती है। मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, दिल्ली आदि राज्यों में भगवान विश्वकर्मा की भव्य प्रतिमा स्थापित कर उनकी सेवा आराधना की जाती है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
https://www.bhaskarhindi.com/news/vishwakarma-jayanti-on-17-september-know-worship-method-85087

श्राद्ध 2019: जानें किस पितृ का कब करें श्राद्ध, इन बातों का रखें विशेष ध्यान

पितृ ऋण उतारने के लिए ही पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म किया जाता है। भारतीय शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि हमारे पितृगण पितृपक्ष में पृथ्वी पर आते हैं और 16 दिनों तक पृथ्वी पर रहने के बाद पितृलोक को लौट जाते हैं। चूंकि इन 16 दिनों के दौरान हमारे पूर्वज धरती पर आते हैं और हमारे द्वारा श्रद्धा के साथ दी गई सामग्री को स्वीकार करते हैं। इसलिए इन दिनों जो कुछ भी उन्हें श्रद्धा के साथ अर्पण किया जाता है उसे ही श्राद्ध कहते हैं।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंhttps://www.bhaskarhindi.com/news/shradh-2019-know-which-pitra-should-be-performed-on-which-date-84746

आधी रात से शुरु हुआ पंचक काल, जानें शुभ और अशुभ मुहूर्त

हिंदू संस्कृति में कोई भी कार्य करने से पहले शुभ और अशुभ मुहूर्त का ध्यान रखा जाता है। इसके अलावा इनमें सबसे महत्वपूर्ण है पंचक, पांच दिनों तक लगने वाले पंचक काल में जैसे यात्रा, व्यापार, लेन-देन, नया कार्य आदि शुभ काम करने की मनाही होती है। इस सितंबर पंचक काल की शुरुआत बुधवार आधी रात के बाद 3.29 से हो चुकी है और 17 सितंबर (मंगलवार) को तड़के 4.23 बजे खत्म होगा। जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त…

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें –  https://www.bhaskarhindi.com/news/panchak-period-started-from-midnight-know-auspicious-and-inauspicious-times-84614

श्राद्ध 2019: 13 सितंबर से शुरु हो रहा है पितृ पक्ष, जानें श्राद्ध की तिथियां

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से आश्विन कृष्ण अमावस्या तक सोलह दिनों को पितृपक्ष कहा जाता है। पितृपक्ष के दौरान अपने पूर्वजों का तर्पण किया जाता है। इस वर्ष पितृ पक्ष श्राद्ध 13 सितंबर दिन शुक्रवार से प्रारंभ होकर 28 सितंबर दिन सोमवार तक चलेगा। ज्योतिषाचार्य के अनुसार इन दिनों में पितरों का तर्पण और विशेष तिथि को श्राद्ध करना आवश्यक है। इन दिनों में पितरों के नाम से श्राद्ध, पिंडदान और ब्राह्मणों को भोजन कराया जाता है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/pitru-paksha-starting-from-13th-september-know-the-dates-of-shraddha-84619

अनंत चतुर्दशी 2019: ऐसे करें गणपति विसर्जन, जानें विधि और शुभ मुहूर्त

गणपति बप्‍पा की अपने घर में 10 दिनों तक यथाशक्ति सत्‍कार, सेवा और पूजा के बाद गणेश विसर्जन की परंपरा है। इसके बाद अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी का विसर्जन किया जाता है। हिन्‍दू पंचांग के मुताबिक अनंत चतुर्दशी हर साल भादो माह शुक्‍ल पक्ष की चौदस यानी कि 14वें दिन मनाई जाती है। इस बार अनंत चतुर्दशी 12 सितंबर गुरुवार यानी कि आज है। आइए जानते हैं गणेश विसर्जन का शुभ मुहूर्त और नियम…


आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/anant-chaturdashi-2019-how-to-do-ganapati-immersion-learn-auspicious-time-84537