Category Archives: Religion News

Religion News

मोक्षदा एकादशी 08 दिसंबर को, इस व्रत से मिटेंगे पाप

मार्गशीर्ष (अगहन) मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। जो इस बार 8 दिसम्बर को है। मार्गशीर्ष (अगहन) मास की शुक्ल पक्ष की मोक्षदा एकादशी का जो व्रत करते हैं, उनके समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं। इसकी कथा को पढ़ने या सुनने से वायपेय यज्ञ करने के तुल्य फल मिलता है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
https://www.bhaskarhindi.com/news/mokshada-ekadashi-on-08-december-this-worship-will-eliminate-sins-96967

विनायक/ विनायकी चतुर्थी कल, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

प्रथम पूज्य कहे जाने वाले भगवान श्री गणेश की पूजा यूं तो हर मंगल काम को शुरू करने से पहले होती है। भगवान गणेश को विघ्नहर्ता माना जाता है, वहीं इन्हें प्रसन्न करने के लिए विनायक/ विनायकी चतुर्थी और संकष्टी गणेश चतुर्थी का व्रत भी किया जाता है। इस बार विनायक चतुर्थी 30 नवम्बर, शनिवार को पड़ रही है। 

इस दिन श्री गणेश का पूजन-अर्चन करना लाभदायी माना गया है। इस दिन गणेश की उपासना करने से घर में सुख-समृद्धि, धन-दौलत, आर्थिक संपन्नता के साथ-साथ ज्ञान एवं बुद्धि की प्राप्ति भी होती है। आइए जानते हैं पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि…

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंhttps://www.bhaskarhindi.com/news/vinayak-vinayaki-chaturthi-learn-auspicious-time-and-worship-method-96416

उत्पन्ना एकादशी 22 को, जानें व्रत की विधि और महत्व

एकादशी व्रत का हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण स्थान है। मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस वर्ष यह 22 नवंबर को है। इस दिन उपवास करने से मन निर्मल निर्मल होने के साथ शरीर भी स्वस्थ होता है। मान्यता है कि उत्पन्ना एकादशी के दिन एकादशी माता श्रीहरि के शरीर से प्रकट हुई थी। 

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
https://www.bhaskarhindi.com/news/utpanna-ekadashi-on-22-november-know-the-method-and-importance-of-fasting-94980

आज से शुरु हुआ श्री कृष्ण का प्रिय माह अगहन, जानें इसके बारे में

कार्तिक पूर्णिमा के साथ ही 12 नवंबर को कार्तिक माह खत्म हो गया है और हिंदू पंचांग का नौवां माह अगहन आज से शुरु हो गया है। धर्म शास्त्रों के अनुसार मार्गशीर्ष का महीना अत्यंत पवित्र होता है। इस महीने से ही सतयुग का आरंभ भी माना जाता है। इस माह को भगवान श्री कृष्ण का प्रिय भी माना गया है। श्रीमद्भगवत गीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि -सभी बारह महीनों में मार्गशीर्ष मैं स्वयं हूं। इस माह को मार्गशीर्ष भी कहा जाता है। आइए जानते हैं इस माह के बारे में..

 आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
https://www.bhaskarhindi.com/news/aghan-the-beloved-month-of-shri-krishna-started-today-learn-about-it-93777

कार्तिक पूर्णिमा आज: सरयू नदी में श्रद्धालु लगा रहे आस्था की डुबकी

हाईलाइट

  •  आज मनाई जा रही कार्तिक पूर्णिमा
  •  पवित्र नदियों पर स्नान करने पहुंच रहे श्रद्धालु

आज (मंगलवार) कार्तिक पूर्णिमा है। इस दिन स्नान का खास महत्व है। भारी संख्या में श्रद्धालु सरयू नदी में डुबकी लगा रहे है। वहीं अयोध्या में आज देव दीपावली भी मनाई जाएगी।  इस बार की कार्तिक पूर्णिमा काफी खास है, क्योंकि शनिवार को राम मंदिर पर आए फैसला आया है। अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इतजाम किए गए हैं।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंhttps://www.bhaskarhindi.com/news/devotees-taking-holy-bath-in-ayodhya-on-dev-deepawali-festival-of-kartik-poornima-93599

प्रकाश पर्व 2019: इस नाम से जाने जाते हैं गुरु नानक, जानें उनकी यात्राओं के बारे में

कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि को गुरु नानक देव जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई जाएगी। इस साल गुरु नानक जयंती 12 नवंबर मंगलवार को है। इस पर्व की शुरुआत दो दिन पहले से ही गुरु ग्रंथ साहिब के पाठ से शुरु हो जाती है। 48 घंटे तक चलने वाले इस पाठ को अखंड पाठ कहा जाता है।

गुरु नानक जी सिख समुदाय के संस्थापक और पहले गुरु थे। इन्होंने ही सिख समाज की नींव रखी। इनके अनुयायी इन्हें नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह कहकर पुकारते हैं। वहीं, लद्दाख और तिब्बत में इन्हें नानक लामा कहा जाता है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/prakash-parv-2019-guru-nanak-is-known-by-this-name-know-about-his-travels-92847

अक्षय नवमी: इस पूजा से होगी आरोग्य, संतान और सुख की प्राप्ति

कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को ‘आंवला नवमी’ या ‘अक्षय नवमी’ कहते हैं। पूरे उत्तर व मध्य भारत में इस नवमी का विशेष महत्व है। इस बार यह 05 नवंबर यानी कि आज मंगलवार को मनाई जा रही है। इस दिन महिलाएं अखंड सौभाग्य, आरोग्य, संतान और सुख की प्राप्ति के लिए आंवले के वृक्ष की पूजा करती हैं।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें –
https://www.bhaskarhindi.com/news/akshay-navami-this-worship-will-bring-health-children-and-happiness-92455