Category Archives: health news

health news

रमजान स्पेशल हेल्थ न्यूज, रोजे में इफ्तारी के दौरान इन कारणों से किया जाता है खजूर का सेवन

सेहत के हिसाब से खजूर काफी ज्यादा हेल्दी होता है। इसे पोषक तत्वों का भडांर माना जाता है। इसमें आयरन, मिनरल, कैल्शियम, अमीनो एसिड, फास्फोरस और भरपूर विटामिन्स होते हैं। रमजान में खजूर का खास महत्व होता है। इस समय दुनिया भर में रमजान की रोनक है। जिसमें सभी मुस्लिम लोग पूरे दिन रोजा रखने के बाद इफ्तारी के समय खजूर खा कर ही अपना रोजा खोलते हैं। इस्लाम धर्म के लोगों की मान्यता है कि पैगंबर मोहम्मद अपना रोजा खजूर खा कर ही खोला करते थे। इसके साथ ही खजूर का सेवन करने से सेहत के साथ खूबसूरती भी बढ़ती है। आइए जानते हैं कि रोजे में खजूर खाने से और क्या-क्या फायदे होते हैं।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/ramadan-special-health-news-due-to-this-reason-dates-are-eaten-on-iftar-68617

Advertisements

लगातार एसी में बैठने से हो सकते हैं ये नुकसान

गर्मी का मौसम आते ही घरों और ऑफिसों में एसी चलना शुरु हो जाता है। ऑफिस में आप अपने दिन के कई घंटे बिताते हैं, ऐसे में लगातार एसी में बैठना भी लाजमी है, लेकिन कार ड्राइव करते समय भी लोग एसी का इस्तेमाल करते हैं। लगातार एसी में बैठने के कुछ फायदे हैं तो कई नुकसान भी हैं और आज हम आपको एसी से होने वाले नुकसान के बारे में ही बताने जा रहे हैं।

AC की आर्टिफिशल ठंडी हवा स्किन को पहुंचाती है नुकसान– AC की आर्टिफिशल ठंडी हवा आपके बालों और स्किन को नुकसान पहुंचाती है। जी हां, आप अपने बदन दर्द, ड्राय स्किन और फटे होंठों के लिए AC को दोष दे सकती हैं। लंबे समय तक एसी में बैठे रहने से आपको हल्का बुखार और थकान बने रहने की समस्या हो सकती है। एसी का तापमान ज्यादा कम करने पर सिरदर्द और चिड़चिड़ाहट महसूस हो सकता है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/these-losses-may-occur-due-to-continuous-sitting-in-air-conditioner-68128

Health: सोच समझकर खरीदें फल, ऐसे जानें प्राकृतिक और कार्बाइड से पके फलों में अंतर

गर्मी का मौसम मतलब चारों तरफ आम और तरबूज जैसे फलों की भरमार। आम और तरबूज का स्वाद चखने के लिए ही तो लोग गर्मी के सीजन का इंतजार करते हैं। इन फलों को खरीदकर लोग चाव से खाते हैं, क्योंकि यह प्राकृतिक फल गर्मियों में हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। वर्तमान में ज्यादातर फलों को केमिकल्स की सहायता से पकाया जाता है,​ जिसके चलते यह हमें फायदे के बदले नुकसान पहुंचाते हैं। आम इंसान के लिए केमिकल्स वाले और प्राकृतिक फलों की पहचान करना मुश्किल होता है, इसलिए हम आपको बता रहे हैं कुछ ट्रिक्स के बारे में, जिससे आप फलों की पहचान कर सकते हैं कि वे प्राकृतिक हैं या केमिकल्स वाले।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/health-chemical-and-natural-fruits-difference-and-effects-of-chemical-68018

गर्मी के मौसम में इन तीन फलों का सेवन करने से कभी नहीं होंगे बीमार

गर्मी के मौसम में तापमान ज्यादा होता है, जिसके चलते जरा सी लापरवाही किसी को भी बीमार बना सकती है। गर्मी के इस मौसम में हम आपको बता रहे हैं 3 ऐसे फलों के नाम और गुणों के बारे में जिनसे बीमारियां कोसों दूर भागती हैं।

अधिकांश लोग जानते हैं कि शहतूत खाने में टेस्टी लगता है और सेहतमंद भी होता है। आयुर्वेद में शहतूत के कई फायदे भी बताए है। बता दें कि शहतूत में पोटैशियम, विटामिन ए और फॉस्फोरस प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। दरअसल, शहतूत दो प्रकार के होते है। इसके अलावा कई लोग इस फल को कच्चा खाना पसंद करते है, तो कई लोग इसे पक जाने के बाद खाना पसंद करते है।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/eat-these-three-fruits-in-the-summer-season-you-will-never-sick-67816

पैकेट बंद फ्रूट जूस के सेवन से पहले जान लें इसके नुकसान

फल खाना किसी भी मौसम में फायदा ही करता है, न कि सिर्फ फलों का सेवन बल्कि फलों का जूस पीना भी सेहत के लिए काफी लाभकारी होता है, लेकिन आज के दौर में युवा पीढ़ी हर चीज पैक्ड खाना पसंद करती है। वे नाश्ता भी पैक्ड यानी डिब्बा बंद करती है। इसी क्रम में आजकल वे पैकेटबंद जूस पीने के शौकीन भी नजर आ रहे हैं। हालांकि वे इसका तर्क देते हैं कि इससे उन्हें कई तरह के शारीरिक लाभ होते हैं, जबकि ऐसा कतई नहीं है। दरअसल पैकेट बंद जूस, जितने फायदे होने का दावा करती है, उतने फायदे उससे हमें मिलते नहीं। पैक्ड फ्रूट जूस बच्चों को बीमार बना सकते हैं। इन पैक्ड फ्रूट जूस में न तो फाइबर होता है और न ही कोई प्राकृतिक पोषक तत्व। आज हम आपको बता रहे हैं पैक्ड फ्रूट से होने वाले नुकसान के बारे में।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/before-drinking-know-about-the-harm-of-the-packed-fruit-juice-67485

World Red Cross Day 2019: आपात स्थिति में हमेशा तत्पर रहती है संस्था, ऐसे हुई शुरुआत

आज वर्ल्ड रेडक्रॉस डे है। इंटरनेशनल कमेटी ऑफ द रेड क्रॉस (आईसीआरसी) की स्थापना 1863 में हुई थी। रेडक्रॉस एक ऐसी संस्था है, जो युद्ध में घायल हुए लोगों और आकस्मिक दुघर्टनाओं व आपातकाल की स्थिति में मदद करती है। इसके साथ यह लोगों को स्वास्थ के प्रति जागरूक रखने में भी मदद करती है। इसका मुख्यालय स्विटजरलैंड के जिनेवा में है। आईसीआरसी को दुनिया भर की सरकारों के अलावा नेशनल रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट सोसायटीज की ओर से फंडिंग मिलती है। वर्ल्ड रेडक्रॉस डे 8 मई को ही इसलिए मनाया जाता है, क्योंकि इस दिन सन् 1828 में जनक जॉन हेनरी डिनैंट का जन्म हुआ था। उनके जन्मदिन को ही विश्व रेडक्रॉस दिवस के तौर पर मनाया जाता है। हर साल इस​ दिन को मनाने के लिए ए​क थीम का आयोजन किया जाता है। इस साल वर्ल्ड रेडक्रॉस डे की थीम है “#लव”।

आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/world-red-cross-day-2019-know-henry-dunant-how-to-started-this-society-67316

कर रहे हैं कीटो डाइट प्लान शुरू, तो पहले जान लें इसके साइड इफेक्ट्स

डाइट और फिटनेस विशेषज्ञों के साथ-साथ जिम जाने वाले लोग कीटो डाइट के बारे में अच्छी तरह जानते होंगे। तेजी से वजन घटाने के लिए जिमिंग के साथ आजकल कीटो डाइट को अपनाया जा रहा है, जो कम कार्बोहाइड्रेट और अधिक फैट पर आधारित है। इस लो-कार्ब डायट को फॉलो करना बेहद मुश्किल होता है, लेकिन अगर किसी ने यह डायट ठीक से फॉलो किया तो परिणाम चौंकाने वाले होते हैं। हालांकि, अब इसकी लोकप्रियता कुछ कम हो रही है। हेल्थ एक्सपर्ट्स और न्यूट्रिशनिस्ट्स का मानना है कि कीटो डायट के कई नुकसान है, कीटो वजन कम करने में तो मदद करता है, लेकिन इसके कई साइडइफेक्ट्स भी होते हैं। तो कीटो डाइट शुरु करने से पहले उनके साइडइफेक्ट्स के बारे में भी जान लें।


आगे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें – https://www.bhaskarhindi.com/news/know-the-keto-diet-side-effects-if-you-are-starting-keto-diet-66685