6 साल में भारत में 16,315 घंटे बंद रहा इंटरनेट, 21 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान

6 साल में भारत में 16,315 घंटे बंद रहा इंटरनेट, 21 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान

NEWS HIGHLIGHTS

  •  सबसे ज्यादा बार इंटरनेट सेवा बंद करने के मामले में भारत दुनिया में पहले नंबर पर।
  •  6 साल में भारत में 16,315 घंटे बंद रहा इंटरनेट।
  •  इंटरनेट सेवा बंद होने से भारत को 21 हजार करोड़ से ज्यादा रूपयों को नुकसान।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनियाभर में भारत एक ऐसा देश है जो इंटरनेट बंद करने के मामले सबसे आगे है। इस श्रेणी पड़ोसी देश पाकिस्तान दूसरे स्थान पर है। थिंक टैंक एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में साल 2012 से  2018 तक में 16,315 घंटे इंटरनेट सेवा बंद की गई है। जिससे देश को करीब 21 हजार 336 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। भारत में कानून व्यवस्था बनाने के लिए इंटरनेट सेवा को 154 बार बंद किया गया है। जबकि पाकिस्तान में ढाई साल में 19 बार डेटा सर्विस पर रोक लगाई गई। घरेलू हिंसा के शिकार सीरिया और इराक में 8 बार इंटरनेट सेवा को बंद किया गया।

दरअसल, देश की अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा डिजिटल बन चुका है। ऐसे में इंटरनेट बंद होने का कारोबार पर बहुत असर पड़ता है। साल 2012 से 2018 के दौरान इंटरनेट बंद होने की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। ब्रूकिंग्स इंस्टीट्यूशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक  सिर्फ एक साल में साल 2015-16 में इंटरनेट बंद करने से भारत को 96.8 करोड़ डॉलर यानी 6,485 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था। इक्रियर के निदेशक रजत कथूरिया ने कहा, ‘इस छह साल की अवधि में भारत में कुल 16,315 घंटे तक इंटरनेट बंद रहा।  इस वजह से अर्थव्यवस्था को करीब करीब 21 हजार 336 करोड़ नुकसान हुआ। देखा जाए तो भारत के मोबाइल यातायात में 10% की वृद्धि औसतन भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 16% की वृद्धि करती है। भारत के इंटरनेट यातायात में 10% की वृद्धि प्रति व्यक्ति जीडीपी में 31% की वृद्धि करेगी 2015-16 में इंटरनेट शटडाउन की कीमत 968 मिलियन डॉलर भारतीय मुद्रा के मुताबिक 6485 करोड़ रुपये थी।

भारत में इंटरनेट सेवा पर रोक पहली बार 2012 में लगी थी। तब सालभर में सिर्फ नौ घंटे इंटरनेट बंद रहा। इसके बाद 2013 में यह आंकड़ा 360 घंटे तक पहुंच गया। 2014 में 114 घंटे तो 2015 में 905 घंटे ब्लॉकेज रहा। वहीं, 2016 में 6 हजार 784 घंटे और 2017 में 8 हजार 141 घंटे इंटरनेट सेवा रोकी गई। एक सर्वेक्षण के अनुसार 19 देशों में सबसे बड़ा नुकसान युद्ध-ग्रस्त इराक में रहा। भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ता 2016 से छह साल में 324% बढ़कर 92 मिलियन से 390 मिलियन हो गए। रिपोर्ट के अनुसार जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट को पांच साल में 60 बार बंद किया गया जो किसी भी अन्य राज्य से ज्यादा था। इंटरनेट शटडाउन से भारत को अब तक 21 हजार 336 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। इनमें 12 हजार 615 घंटे मोबाइल इंटरनेट बंद रहने से 16 हजार 590 करोड़ का घाटा हुआ। 3 हजार 700 घंटे ब्रॉडबैंड नेटवर्क ब्लॉक होने से 4 हजार 746 करोड़ का नुकसान हुआ। इनमें टूरिज्म, आईटी, प्रेस, न्यूज मीडिया और ई-कॉमर्स सेक्टर को होने वाला नुकसान भी शामिल है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में भारत के स्वच्छ भारत मिशन का बजट 17 हजार 843 करोड़ रुपए है, जबकि आयुष्मान भारत योजना का बजट 3 हजार 200 करोड़ रुपए है।

Source: Bhaskarhindi.com

Advertisements

3 thoughts on “6 साल में भारत में 16,315 घंटे बंद रहा इंटरनेट, 21 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान

  1. Woah! I’m really digging the template/theme of this website.
    It’s simple, yet effective. A lot of times it’s difficult to
    get that “perfect balance” between superb usability and appearance.
    I must say you have done a amazing job with this.
    Additionally, the blog loads very quick for me on Firefox.
    Superb Blog!

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.